जानिए क्या होती है दोस्ती और उसके मायने….

दोस्ती और उसके मायने….

जन्म के बाद रक्त सम्बन्धों के अलावा जो नये सम्बन्ध व्यक्ति बनाता है उनमें से एक है मित्रता ।
मित्रता! चाहे कृष्ण-सुदामा की रही हो या दुर्योधन-कर्ण की ,उसमें समर्पण का जो भाव था वो सदैव इस बंधन को मजबूती देता रहा । कृष्ण ने अपने निर्धन मित्र को अपने राजसिंहासन पर बैठा दिया तो कर्ण ने अपने मित्र दुर्योधन के खातिर अपने प्राणों का उत्सर्ग भी कर दिए |

 

friendship day imagesयही मित्रता का दौर प्राचीन समय से चलता आ रहा है और यह रिश्ता आज तक उतने ही आवश्यक रूप से कायम है जितना पहले था।जिंदगी की शुरुआत में जब हम घर से बाहर पहला कदम रखते हैं उसी समय किसी दूसरे घर से कोई और भी अपने नन्हे कदम रखता है और कब एक दूसरे से घुल मिल जाते हैं पता ही नहीं चलता । फिर स्कूल, कॉलेज और आपके साथ काम करने वाले लोग सब इस जोड़ का हिस्सा बनते जाते हैं।
आपके स्वभाव , सोचने के तौर तरीकों में इन सम्बन्धो का बहुत योगदान होता है और यही संगत आपको जीवन में आगे बढ़ने में बहुत मदद करती है।

friendship day imagesलेकिन सम्बन्धों का ये दायरा आपको बहुत सोच समझ कर बढ़ाना चाहिए किस तरह के लोग आपको मिल रहे है और कितना सकारात्मक योगदान आपके जीवन पर उनके प्रभाव से हो रहा है इन सब पर गौर करना जरुरी है।

मीठी खट्टी यादों के साथ वो तमाम अनुभव जो जिंदगी से हमें मिले हैं वो सब इन रिश्तों की देन है।

आईये आज का दिन उन सब दोस्तों के नाम जिन्होंने आपको जाने अनजाने काफी कुछ सिखाया है ।

Happy friendship day !!!!

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *